Friday, August 21, 2015

आखिरी मुलाकात


कल उनसे आखिरी मुलाकात होंगी,
फिर ऐसे दिन होंगे ऐसी रातें होंगी।
महीने भर की यादें वर्षो तक साथ होगी,
कल उनसे आखिरी मुलाकात होंगी।

बस स्टॉप तो वही होगा,
मगर अब वहां ना वो इंतजार होगी,
कल उनसे आखिरी मुलाकात होगी।

गाएंगे परिंदे फिर भी,
मगर इनमे ना वो राग होगी,
कल उनसे आखिरी मुलाकात होंगी।

बादल तो बरसेंगे फिर भी,
मगर बारिशो में ना वो खुश्बू होंगी,
कल उनसे आखिरी मुलाकात होंगी।

गर कभी आँखों से छलके जो आंसू,
उन आंसुओ में बस एक ही तस्वीर होगी,
कल उनसे आखिरी मुलाकात होंगी।

रह गई जो बातें अधूरी,
वो तमन्नाएं साथ होंगी,
कल उनसे आखिरी मुलाकात होंगी।

जब भी सजदा करूँगा खुदा का,
बस उनके लिये ही इबादत होंगी।
कल उनसे आखिरी मुलाकात होंगी।

No comments:

Post a Comment