Monday, August 3, 2020

अमेरिका के इशारों पे नाचता भारत: अमेरिकी कंपनी को फायदा पहुँचाने के लिए टिकटॉक को किया गया बैन

Tik Tok

कुछ समय पहले जब भारत सरकार ने टिकटॉक बैन किया था तो हमारे देश की जनता ये सोच के खुश हो गई थी कि  सरकार ने चीन को सबक सिखाने के लिए ये कदम उठाया है। लेकिन असली तस्वीर अब साफ हो रही है, माइक्रोसॉफ्ट टिकटॉक को खरीदना चाहता है और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि टिकटॉक अपना ऑनर बदले या फिर अमेरिका में टिकटॉक को बैन कर दिया जाएगा।

कड़िया जोड़ने पे ये स्पष्ट हो जाता है कि सब कुछ पहले से ही फिक्स था और अमेरिका के कहने पे भारत ने टिकटॉक को बैन किया। टिकटॉक के सबसे ज्यादा यूजर भारत में और उसके बाद अमेरिका मे हैं। 
अगर माइक्रोसॉफ्ट टिकटॉक को खरीदने में सफल रहता है तो अमेरिका के एक इशारे पे भारत तुरंत टिकटॉक को अनबैन कर देगा।  
ये कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी कि भारत पहले ब्रिटेन का गुलाम था और अब अमेरिका (संयुक्त राष्ट्र अमेरिका) का गुलाम है। 

भारत सरकार अपनी सफाई में ये कहती है कि यूजर्स के व्यक्तिगत डाटा विदेश जा रहा था इस कारण टिकटॉक को बैन किया गया। अगर ऐसा है तो गूगल, फेसबुक, ट्विटर इत्यादी को क्यों नहीं बैन किया जाता! भारत के यूजर्स का व्यक्तिगत डाटा चाईना अमेरिकी कंपनियो से भी तो खरीद सकता हैं!

No comments:

Post a Comment